• क्या आप जानते हैं कि अमेरिका की प्रसिद्ध येल यूनिवर्सिटी भारतीयों को लूट कर बनाई गई थी? विश्वविद्यालय ने इस बात के लिए क्षमायाचना की है कि उसके संस्थापनों ने गुलाम प्रथा से कमाए धन से इसकी स्थापना की थी। विश्वविद्यालय जिस एलिहू येल के नाम पर बना हुआ है। वह ईस्ट इंडिया कंपनी का अधिकारी था। वह मद्रास में तैनात था। वहां से वह लोगों को गुलाम बनाकर ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा नियंत्रित सुदूर देशों में बेचा करता था। इससे कमाए धन को येल ने अमेरिका में अपने नाम से खुले इस विश्वविद्यालय में लगाया। अब साढ़े तीन सौ वर्ष के बाद येल यूनिवर्सिटी ने अपने काले इतिहास पर माफी मांगी है। लेकिन इसके पीछे भी एक गहरी चाल छिपी हुई है।
    सौ : इंडिक्स ऑनलाइन
    क्या आप जानते हैं कि अमेरिका की प्रसिद्ध येल यूनिवर्सिटी भारतीयों को लूट कर बनाई गई थी? विश्वविद्यालय ने इस बात के लिए क्षमायाचना की है कि उसके संस्थापनों ने गुलाम प्रथा से कमाए धन से इसकी स्थापना की थी। विश्वविद्यालय जिस एलिहू येल के नाम पर बना हुआ है। वह ईस्ट इंडिया कंपनी का अधिकारी था। वह मद्रास में तैनात था। वहां से वह लोगों को गुलाम बनाकर ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा नियंत्रित सुदूर देशों में बेचा करता था। इससे कमाए धन को येल ने अमेरिका में अपने नाम से खुले इस विश्वविद्यालय में लगाया। अब साढ़े तीन सौ वर्ष के बाद येल यूनिवर्सिटी ने अपने काले इतिहास पर माफी मांगी है। लेकिन इसके पीछे भी एक गहरी चाल छिपी हुई है। सौ : इंडिक्स ऑनलाइन
    0 Comments 0 Shares 169 Views
  • विकसित भारत के लिए गांव की अर्थव्यवस्था का सशक्त होना बहुत ज़रूरी है: PM @narendramodi
    विकसित भारत के लिए गांव की अर्थव्यवस्था का सशक्त होना बहुत ज़रूरी है: PM @narendramodi
    0 Comments 0 Shares 750 Views
  • सुप्रभात।
    सुप्रभात।
    0 Comments 0 Shares 53 Views
  • सुप्रभात।
    सुप्रभात।
    0 Comments 0 Shares 63 Views
  • हम सब ने रेलवे प्लेटफॉर्म पर नमाज पढ़ते हुए बहुत दृश्य देखे होंगे लेकिन ऐसा नजारा पहली बार देख रहे है ऐसा नजारा देखकर बहुत सारे लोगों के दिल और कलेजों कि धडकने बढ़ जाएगी 🚩 ये झांसी रेल्वे स्टेशन का नजारा है 🚩 वन्देमातरम् 🚩
    हम सब ने रेलवे प्लेटफॉर्म पर नमाज पढ़ते हुए बहुत दृश्य देखे होंगे लेकिन ऐसा नजारा पहली बार देख रहे है ऐसा नजारा देखकर बहुत सारे लोगों के दिल और कलेजों कि धडकने बढ़ जाएगी 🚩 ये झांसी रेल्वे स्टेशन का नजारा है 🚩 वन्देमातरम् 🚩
    0 Comments 0 Shares 225 Views 0
  • यदि आप एक तीर से चार मारना चाहते हो तो , कमल का बटन दबाइये।

    "कांग्रेसी, सेकुलर, बामपंथी और आतंकवादी चारों एक साथ मरेंगे"
    यदि आप एक तीर से चार मारना चाहते हो तो , कमल का बटन दबाइये। "कांग्रेसी, सेकुलर, बामपंथी और आतंकवादी चारों एक साथ मरेंगे"
    0 Comments 0 Shares 219 Views
  • "बसपा का वोट बीजेपी में जा रहा है । इसलिए हम भी उधर ही जा रहे हैं ।"

    All Jatav voters of BSP are now shifting to BJP. A small sample of a committed local leader of BSP. They are very happy with Modi and Yogi.

    This will be a massive Tsunami in UP Lok Sabha. BJP can get 76-78 seats of vote tranfer happens smoothly.

    Thanks you BMW for keeping out SP, Congress in 2017,2022, 2019 and in 2024

    This is the PULSE on Ground
    "बसपा का वोट बीजेपी में जा रहा है । इसलिए हम भी उधर ही जा रहे हैं ।" All Jatav voters of BSP are now shifting to BJP. A small sample of a committed local leader of BSP. They are very happy with Modi and Yogi. This will be a massive Tsunami in UP Lok Sabha. BJP can get 76-78 seats of vote tranfer happens smoothly. Thanks you BMW for keeping out SP, Congress in 2017,2022, 2019 and in 2024 This is the PULSE on Ground
    0 Comments 0 Shares 217 Views
  • दूसरे राष्ट्र में जब मंदिर का शिखर आसमान छूता है ...
    तो सनातन की मजबूती की गवाही देता है

    🔱 हर हर महादेव 🔱
    दूसरे राष्ट्र में जब मंदिर का शिखर आसमान छूता है ... तो सनातन की मजबूती की गवाही देता है 🔱 हर हर महादेव 🔱
    0 Comments 0 Shares 170 Views
  • the Satya Yuga was 17,28,000 years when Shri Vishnu appeared and four VEDs were written

    the Treta Yuga was 12,96,000 years when Shri Ram appeared and Ramayan took place

    the Dwapara Yuga was 8,64,000 years when Shri Krishan appeared and Mahabharat was written

    the Kali Yuga is 4,32,000 years out of which only 5000 years have passed

    and some certified C*** historian say Sanatan is 5000 years old

    हमारे सूर्य परिवार का .....

    कलयुग= 4 लाख 32 हजार साल
    द्वापर= 8 लाख 64 हजार साल
    त्रेता = 12 लाख 96 हजार साल
    सतयुग= 17 लाख 28 हजार साल

    इन चार चतुयुर्युगियों का सम्पूर्ण समय होता है -- 43 लाख 20 हजार साल,
    71 चतुर्युगियों का एक मन्वंतर होता है,
    14 मन्वंतर की एक श्रृष्टि होती है

    14 मन्वंतर का ही एक प्रलय होता है
    अभी श्रृष्टि का आठवां मन्वंतर *वैवस्वत* चल रहा है,

    इस पृथ्वी पर मनुष्य की गणना (संकल्प पाठ) का समय 1 अरब 96 करोड़ 8 लाख 53 हजार 125 वर्ष हो चुका है

    हमारे इस सूर्य के जीवन या श्रृष्टि काल का मध्य समय चल रहा है
    ब्रह्मांड में हर सूर्य (तारा) का अपना अपना समय काल चल रहा है
    the Satya Yuga was 17,28,000 years when Shri Vishnu appeared and four VEDs were written the Treta Yuga was 12,96,000 years when Shri Ram appeared and Ramayan took place the Dwapara Yuga was 8,64,000 years when Shri Krishan appeared and Mahabharat was written the Kali Yuga is 4,32,000 years out of which only 5000 years have passed and some certified C*** historian say Sanatan is 5000 years old हमारे सूर्य परिवार का ..... कलयुग= 4 लाख 32 हजार साल द्वापर= 8 लाख 64 हजार साल त्रेता = 12 लाख 96 हजार साल सतयुग= 17 लाख 28 हजार साल इन चार चतुयुर्युगियों का सम्पूर्ण समय होता है -- 43 लाख 20 हजार साल, 71 चतुर्युगियों का एक मन्वंतर होता है, 14 मन्वंतर की एक श्रृष्टि होती है 14 मन्वंतर का ही एक प्रलय होता है अभी श्रृष्टि का आठवां मन्वंतर *वैवस्वत* चल रहा है, इस पृथ्वी पर मनुष्य की गणना (संकल्प पाठ) का समय 1 अरब 96 करोड़ 8 लाख 53 हजार 125 वर्ष हो चुका है हमारे इस सूर्य के जीवन या श्रृष्टि काल का मध्य समय चल रहा है ब्रह्मांड में हर सूर्य (तारा) का अपना अपना समय काल चल रहा है
    0 Comments 0 Shares 156 Views
  • Mounted Gun System.

    पुणे के डिफेंस एक्सपो में DRDO के वैज्ञानिक ने कहा कि स्वदेशी Mounted Gun System "MGS" Fire करने में, वजन के मामले में और शक्ति अनुपात के मामले में फ्रांस, इज़राइल और रसिया के Howitzers से कहीं बेहतर है. और यह Mounted Gun System 45 किमी से अधिक दूरी तक Pinpoint पर हमला कर सकता है और प्रति मिनट 5-6 गोला दाग सकता है.

    DRDO की यह बात मुझे पसंद है कि कैसे वे परोक्ष रूप से सेना और रक्षा मंत्रालय को आयात न करने का संकेत दे रहे हैं....
    Mounted Gun System. पुणे के डिफेंस एक्सपो में DRDO के वैज्ञानिक ने कहा कि स्वदेशी Mounted Gun System "MGS" Fire करने में, वजन के मामले में और शक्ति अनुपात के मामले में फ्रांस, इज़राइल और रसिया के Howitzers से कहीं बेहतर है. और यह Mounted Gun System 45 किमी से अधिक दूरी तक Pinpoint पर हमला कर सकता है और प्रति मिनट 5-6 गोला दाग सकता है. DRDO की यह बात मुझे पसंद है कि कैसे वे परोक्ष रूप से सेना और रक्षा मंत्रालय को आयात न करने का संकेत दे रहे हैं....
    0 Comments 0 Shares 108 Views
  • "स्वास्थानी भर्सेस ग्याङ्" नामक वेबसिरिज बन्न लागेको भन्ने समाचारप्रति सनातन चौतारीको गम्भिर ध्यानाकर्षण भएको छ।

    सनातनी हिन्दू देवीदेवताको नाम प्रयोग गरी केकस्ता सामाग्री बन्न लागेका हुन्?
    सार्वजनिक पोस्टरहरु हेर्दा कतै पनि धार्मिक आस्था झल्काउने र बुझाउने कुरा नदेखिए पछि हाम्रा धार्मिक आस्थालाई लिएर ख्यालठट्टा गर्ने, चोट पुऱ्याउने, होच्याउने या गलत कार्य देखाउने सामाग्री बन्न लागेको पो हो कि भन्ने हाम्रो चिन्तन छ।

    यदि त्यसो रहेछ भने करोडौं सनातनी हिन्दूहरु चुप लागेर नबस्ने र यसको नतिजा राम्रो नहुने सम्बन्धित सम्पूर्णमा चेतवनी दिन चाहन्छौं।

    जय सनातन।🕉️🇳🇵

    https://x.com/sanatanchautari/status/1761701960615330059?s=46&t=k7DOzt02q2xVLz7J4o4Rmg

    Link: setopati.com/art/art-activi…
    "स्वास्थानी भर्सेस ग्याङ्" नामक वेबसिरिज बन्न लागेको भन्ने समाचारप्रति सनातन चौतारीको गम्भिर ध्यानाकर्षण भएको छ। सनातनी हिन्दू देवीदेवताको नाम प्रयोग गरी केकस्ता सामाग्री बन्न लागेका हुन्? सार्वजनिक पोस्टरहरु हेर्दा कतै पनि धार्मिक आस्था झल्काउने र बुझाउने कुरा नदेखिए पछि हाम्रा धार्मिक आस्थालाई लिएर ख्यालठट्टा गर्ने, चोट पुऱ्याउने, होच्याउने या गलत कार्य देखाउने सामाग्री बन्न लागेको पो हो कि भन्ने हाम्रो चिन्तन छ। यदि त्यसो रहेछ भने करोडौं सनातनी हिन्दूहरु चुप लागेर नबस्ने र यसको नतिजा राम्रो नहुने सम्बन्धित सम्पूर्णमा चेतवनी दिन चाहन्छौं। जय सनातन।🕉️🇳🇵 https://x.com/sanatanchautari/status/1761701960615330059?s=46&t=k7DOzt02q2xVLz7J4o4Rmg Link: setopati.com/art/art-activi…
    0 Comments 0 Shares 313 Views
  • त्याग और तप की प्रतिमूर्ति महान स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर जी को उनकी पुण्यतिथि पर सादर नमन।

    मातृभूमि की सेवा में समर्पित उनका जीवन देशवासियों के लिए हमेशा प्रेरणास्रोत बना रहेगा।
    त्याग और तप की प्रतिमूर्ति महान स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर जी को उनकी पुण्यतिथि पर सादर नमन। मातृभूमि की सेवा में समर्पित उनका जीवन देशवासियों के लिए हमेशा प्रेरणास्रोत बना रहेगा।
    0 Comments 0 Shares 213 Views
  • सुप्रभात।
    सुप्रभात।
    0 Comments 0 Shares 216 Views
  • 2014 तक दक्षिण भारतीय फिल्में अपनी सीमाओं तक सीमित रहती थी। लेकिन 2015 में बाहुबली की सफलता ने दक्षिण भारतीय निर्माताओं को पैन इंडिया आने का हौसला व हिम्मत दी। उसके बाद 2018 में केजीएफ़ व 2021 में पुष्पा नजदीकी सिनेमाघरों में पहुँची। और पैन इंडिया दर्शकों का प्यार बटोरा। अब कई अन्य साउथ इंडियन फिल्में कतार में खड़ी है। साउथ के निर्माता अपने कंटेंट को पैन इंडिया लेकर आ रहे है।

    इससे पहले पैनइंडिया पर बॉलीवुड का एकछत्र राज रहता था। यह सच है बॉलीवुड के सामने कोई क्षेत्रीय सिनेमा सर नहीं उठा पाता था। न उन्हें उठाने दिया जाता था। लेकिन... लेकिन! बाहुबली ने सारे मिथक तोड़ डाले। फ़िल्मी पंडित अपनी पोटी पत्रिकाओं में झांकने लगे।

    यूं तो इक्का दुक्का साउथ इंडियन कंटेंट हिंदी में पैन इंडिया रिलीज होता आया था। लेकिन उन्हें अपवाद ही कहेंगे, जबसे बाहुबली ने मुंबई को अपनी राजधानी घोषित किया है तब से साउथ के निर्माताओं अपने कंटेंट को पैन इंडिया में सोचने लगे है।

    अगर इस परिस्थिति का स्क्रीन प्ले भारतीय राजनीति को दिया जाए तो पाएंगे। कि कांग्रेस भारतीय राजनीति व सत्ता की लंबे समय तक मुखिया रही है। अस्सी तक कांग्रेस के सामने कोई भी राजनीतिक दल खड़ा नहीं हो पाया है। 1977 की कसरत यहां भी अपवाद गिनी जाए। अस्सी के बाद अन्य राजनीतिक दल खड़े हुए।

    भाजपा को भी काफी मेहनत करनी पड़ी तब जाकर उसे कामयाबी मिली। भाजपा के फाउंडर लालकृष्ण आडवाणी और अटल बिहारी वाजपेयी जी ने अपने राजनीतिक दल को कुछ राज्यों व केंद्र तक सीमित रखा था। कई ऐसे राज्य हैं जहां पर भाजपा को लेकर नहीं पहुंच पाए। बल्कि अभी भी नगण्य है। मसलन पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, साउथ रीजन पंजाब, आदि राज्य। हालांकि बंगाल में पैर जमाना शुरू हुआ है। उड़ीसा में भाजपा को केंद्र की दृष्टि से प्रेम मिलता है। लेकिन राज्य के तौर पीछे है।

    लेकिन 2014 के बाद से मोदी और शाह की जोड़ी भाजपा के कमल को हर राज्य हर लोकल बॉडी के चुनावों में लेकर जा रही है। और उसे उपस्थिति दर्ज करवा रहे है। 2014 के बाद महाराष्ट्र, जम्मू कश्मीर, हरियाणा, असम, त्रिपुरा आदि में कमल खिला।

    बोले तो अब भाजपा पैन इंडिया फैले जा रही है। सिनेमाई भाषा में पैन इंडिया रिलीज ले रही है। इसके परिणामस्वरूप पिछले दिनों भाजपा ने तमिलनाडु की राजनीति में चौकाने वाला प्रदर्शन किया है। तमिलनाडु के निकाय चुनाव में भाजपा ने 300 सीट जीतकर भारतीय राजनीतिक पंडितों को हक्का बक्का कर दिया। अभी कुछ दिन पहले सदन में राहुल ने भाजपा से कहा था कि "बीजेपी कभी तमिलनाडु पर शासन नहीं करेगी। मुझे उम्मीद है कि यूएलबी चुनावों ने उन्हें इस तरह की धारणाओं से वंचित कर दिया है। बीजेपी अब कांग्रेस से आगे डीएमके और एआईएडीएमके के बाद तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है। भाजपा उन क्षेत्रों में जीती है जहां वह कभी नहीं जीती थी।"

    इन नतीजों में तमिलनाडु से भाजपा का प्रदर्शन राहुल गांधी के बयान पर करारा और बड़ा सख्त तमाचा है। अच्छे से इल्म करवा गया होगा कि दमदार और करिश्माई नेतृत्व में भाजपा पेन इंडिया खेलने निकल चुकी है। उसे रोकने वाला कोई नहीं है हालांकि वक्त जरूर लगेगा। लेकिन पूरी तरह पैन इंडिया में स्थापित में जाएगी। भाजपा ने भारतीय राजनीति में ख़ूब वक्त दिया है। पराजय की आग में तपकर खुद को मजबूत बनाया है। 2 सांसद वाली पार्टी 300 सांसद लेकर दिल्ली में काबिज है। भाजपा अपने गोल्डन ऐरा को तबीयत से भुनाने में लगी है। हर राज्य में जड़े मजबूत करने में जुटी है। अन्य राजनीतिक दलों की तरह भाजपा नेपोटिज़्म का अड्डा नहीं है। क्योंकि तमिलनाडु में भाजपा जिस चेहरे के दम पर आगे बढ़ रही है। उनका नाम के अन्नामलाई है। डीएसपी के पद से इस्तीफा देकर राजनीति में कदम रखा। क्योंकि जनता पसन्द करती है और अन्ना जनता के लिए काम करना चाहते है। सबसे कम उम्र के भाजपाई प्रदेश अध्यक्ष है।

    दक्षिण भारतीय राजनीति में भाजपा का बेहतरीन नेतृत्व शेप ले रहा है। या कहे राजनीतिक आग में तप रहा है। तमिलनाडु से अन्नामलाई और कर्नाटक से तेजस्वी सूर्या। बहुत जल्द दोनों चेहरे इन सुबो के मुखिया नजर आए। तो हैरानी न होनी चाहिए।

    वंशवाद की राजनीति से इतर भाजपा का दमदार भविष्य तैयार हो रहा है। जिसकी सोच में राष्ट्र व संस्कृति प्रथम है। जबकि भारतीय राजनीति के सबसे पुराने व बूढ़े दल में भविष्य की दृष्टि से टुकड़े टुकड़े गैंग के विनाशकारी युवा शरण लिए हुए है। जिनका लिंकअप देश विरोधी ताकतों के साथ है और देश को अस्वस्थ करने की पुरज़ोर कोशिशें कर रहे है।

    फ़र्क देखें और आगे बढ़े। देश को किसके हाथ में सौंपना चाहिए। साउथ का कंटेंट हिंदी पट्टी में और हिंदी पट्टी वाला राजनीतिक दल दक्षिण में टू मच फ़न।

    #साभार
    t.me/modified_hindu…
    2014 तक दक्षिण भारतीय फिल्में अपनी सीमाओं तक सीमित रहती थी। लेकिन 2015 में बाहुबली की सफलता ने दक्षिण भारतीय निर्माताओं को पैन इंडिया आने का हौसला व हिम्मत दी। उसके बाद 2018 में केजीएफ़ व 2021 में पुष्पा नजदीकी सिनेमाघरों में पहुँची। और पैन इंडिया दर्शकों का प्यार बटोरा। अब कई अन्य साउथ इंडियन फिल्में कतार में खड़ी है। साउथ के निर्माता अपने कंटेंट को पैन इंडिया लेकर आ रहे है। इससे पहले पैनइंडिया पर बॉलीवुड का एकछत्र राज रहता था। यह सच है बॉलीवुड के सामने कोई क्षेत्रीय सिनेमा सर नहीं उठा पाता था। न उन्हें उठाने दिया जाता था। लेकिन... लेकिन! बाहुबली ने सारे मिथक तोड़ डाले। फ़िल्मी पंडित अपनी पोटी पत्रिकाओं में झांकने लगे। यूं तो इक्का दुक्का साउथ इंडियन कंटेंट हिंदी में पैन इंडिया रिलीज होता आया था। लेकिन उन्हें अपवाद ही कहेंगे, जबसे बाहुबली ने मुंबई को अपनी राजधानी घोषित किया है तब से साउथ के निर्माताओं अपने कंटेंट को पैन इंडिया में सोचने लगे है। अगर इस परिस्थिति का स्क्रीन प्ले भारतीय राजनीति को दिया जाए तो पाएंगे। कि कांग्रेस भारतीय राजनीति व सत्ता की लंबे समय तक मुखिया रही है। अस्सी तक कांग्रेस के सामने कोई भी राजनीतिक दल खड़ा नहीं हो पाया है। 1977 की कसरत यहां भी अपवाद गिनी जाए। अस्सी के बाद अन्य राजनीतिक दल खड़े हुए। भाजपा को भी काफी मेहनत करनी पड़ी तब जाकर उसे कामयाबी मिली। भाजपा के फाउंडर लालकृष्ण आडवाणी और अटल बिहारी वाजपेयी जी ने अपने राजनीतिक दल को कुछ राज्यों व केंद्र तक सीमित रखा था। कई ऐसे राज्य हैं जहां पर भाजपा को लेकर नहीं पहुंच पाए। बल्कि अभी भी नगण्य है। मसलन पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, साउथ रीजन पंजाब, आदि राज्य। हालांकि बंगाल में पैर जमाना शुरू हुआ है। उड़ीसा में भाजपा को केंद्र की दृष्टि से प्रेम मिलता है। लेकिन राज्य के तौर पीछे है। लेकिन 2014 के बाद से मोदी और शाह की जोड़ी भाजपा के कमल को हर राज्य हर लोकल बॉडी के चुनावों में लेकर जा रही है। और उसे उपस्थिति दर्ज करवा रहे है। 2014 के बाद महाराष्ट्र, जम्मू कश्मीर, हरियाणा, असम, त्रिपुरा आदि में कमल खिला। बोले तो अब भाजपा पैन इंडिया फैले जा रही है। सिनेमाई भाषा में पैन इंडिया रिलीज ले रही है। इसके परिणामस्वरूप पिछले दिनों भाजपा ने तमिलनाडु की राजनीति में चौकाने वाला प्रदर्शन किया है। तमिलनाडु के निकाय चुनाव में भाजपा ने 300 सीट जीतकर भारतीय राजनीतिक पंडितों को हक्का बक्का कर दिया। अभी कुछ दिन पहले सदन में राहुल ने भाजपा से कहा था कि "बीजेपी कभी तमिलनाडु पर शासन नहीं करेगी। मुझे उम्मीद है कि यूएलबी चुनावों ने उन्हें इस तरह की धारणाओं से वंचित कर दिया है। बीजेपी अब कांग्रेस से आगे डीएमके और एआईएडीएमके के बाद तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है। भाजपा उन क्षेत्रों में जीती है जहां वह कभी नहीं जीती थी।" इन नतीजों में तमिलनाडु से भाजपा का प्रदर्शन राहुल गांधी के बयान पर करारा और बड़ा सख्त तमाचा है। अच्छे से इल्म करवा गया होगा कि दमदार और करिश्माई नेतृत्व में भाजपा पेन इंडिया खेलने निकल चुकी है। उसे रोकने वाला कोई नहीं है हालांकि वक्त जरूर लगेगा। लेकिन पूरी तरह पैन इंडिया में स्थापित में जाएगी। भाजपा ने भारतीय राजनीति में ख़ूब वक्त दिया है। पराजय की आग में तपकर खुद को मजबूत बनाया है। 2 सांसद वाली पार्टी 300 सांसद लेकर दिल्ली में काबिज है। भाजपा अपने गोल्डन ऐरा को तबीयत से भुनाने में लगी है। हर राज्य में जड़े मजबूत करने में जुटी है। अन्य राजनीतिक दलों की तरह भाजपा नेपोटिज़्म का अड्डा नहीं है। क्योंकि तमिलनाडु में भाजपा जिस चेहरे के दम पर आगे बढ़ रही है। उनका नाम के अन्नामलाई है। डीएसपी के पद से इस्तीफा देकर राजनीति में कदम रखा। क्योंकि जनता पसन्द करती है और अन्ना जनता के लिए काम करना चाहते है। सबसे कम उम्र के भाजपाई प्रदेश अध्यक्ष है। दक्षिण भारतीय राजनीति में भाजपा का बेहतरीन नेतृत्व शेप ले रहा है। या कहे राजनीतिक आग में तप रहा है। तमिलनाडु से अन्नामलाई और कर्नाटक से तेजस्वी सूर्या। बहुत जल्द दोनों चेहरे इन सुबो के मुखिया नजर आए। तो हैरानी न होनी चाहिए। वंशवाद की राजनीति से इतर भाजपा का दमदार भविष्य तैयार हो रहा है। जिसकी सोच में राष्ट्र व संस्कृति प्रथम है। जबकि भारतीय राजनीति के सबसे पुराने व बूढ़े दल में भविष्य की दृष्टि से टुकड़े टुकड़े गैंग के विनाशकारी युवा शरण लिए हुए है। जिनका लिंकअप देश विरोधी ताकतों के साथ है और देश को अस्वस्थ करने की पुरज़ोर कोशिशें कर रहे है। फ़र्क देखें और आगे बढ़े। देश को किसके हाथ में सौंपना चाहिए। साउथ का कंटेंट हिंदी पट्टी में और हिंदी पट्टी वाला राजनीतिक दल दक्षिण में टू मच फ़न। #साभार t.me/modified_hindu…
    0 Comments 0 Shares 880 Views
  • तमिलनाडु में भाजपा की लहर को महसूस किया जा सकता है.

    तमिलनाडु के विलावनकोड विधानसभा क्षेत्र की कांग्रेस विधायिका श्रीमती विजयधारानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी के कुशल नेतृत्व से प्रेरित होकर आज केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. एल. मुरुगन, तमिलनाडु के भाजपा प्रदेशाधक्ष के उपस्थिति में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं। विजयधरानी की उपस्थिति, तमिलनाडु में राजनीतिक परिवर्तन को साकार करने में तमिलनाडु भाजपा की राह को और मजबूत करेगी...
    तमिलनाडु में भाजपा की लहर को महसूस किया जा सकता है. तमिलनाडु के विलावनकोड विधानसभा क्षेत्र की कांग्रेस विधायिका श्रीमती विजयधारानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी के कुशल नेतृत्व से प्रेरित होकर आज केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. एल. मुरुगन, तमिलनाडु के भाजपा प्रदेशाधक्ष के उपस्थिति में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं। विजयधरानी की उपस्थिति, तमिलनाडु में राजनीतिक परिवर्तन को साकार करने में तमिलनाडु भाजपा की राह को और मजबूत करेगी...
    0 Comments 0 Shares 809 Views
  • राम मंदिर के बाद देश में बने सनातन उत्थान के माहौल को कमजोर करने राहुल गांधी की यात्रा रची गयी जो अपनी शुरुआत में ही फ्लॉप हो गयी। उसके बाद नरेंद्र मोदी के आसमान छूते ग्राफ को गिराने की नाकाम कोशिश में किसानों के वेश में खालिस्तानी आंदोलन खड़ा किया गया और वह भी नाकाम रहा। ऐसे में राहुल यात्रा बीच में छोड़ एक बार फिर अपने विदेशी आकाओं की शरण में जाने को अभिशप्त हैं।


    https://youtu.be/lTyO8-Z7LBo
    राम मंदिर के बाद देश में बने सनातन उत्थान के माहौल को कमजोर करने राहुल गांधी की यात्रा रची गयी जो अपनी शुरुआत में ही फ्लॉप हो गयी। उसके बाद नरेंद्र मोदी के आसमान छूते ग्राफ को गिराने की नाकाम कोशिश में किसानों के वेश में खालिस्तानी आंदोलन खड़ा किया गया और वह भी नाकाम रहा। ऐसे में राहुल यात्रा बीच में छोड़ एक बार फिर अपने विदेशी आकाओं की शरण में जाने को अभिशप्त हैं। https://youtu.be/lTyO8-Z7LBo
    0 Comments 0 Shares 320 Views
  • सुप्रभात।
    सुप्रभात।
    0 Comments 0 Shares 187 Views
  • संगीतले पारेकाे प्रभाब ।
    संगीतले पारेकाे प्रभाब ।
    Like
    1
    0 Comments 0 Shares 272 Views 8
More Results
Sponsored